शनिवार, 12 सितंबर 2015

કૌટુંબિક કામો

કૌટુંબિક કામો માં સંતાનો ના લગ્ન જવાબદારી નું મહત્વ કમ નથી.વડોદરા માં બરાનપુરા માં પાંડુરંગ નિવાસ માં દેવ જ્યોતીશાલય  નું કાર્યાલય શામળ બહેચર ની પલ માં થી લાવી દીધું હતું। જ્યોતિબેન શર્મિષ્ઠા બેન ના લગ્ન પ્રસંગો આજ ગાળા માં યોજાયા હતા !!જ્યોતિષ સેવા માં નામના વધતી ચાલી હતી।

बुधवार, 14 जनवरी 2015

देवज्योतिषालय वड़ोदरा में १९४९ में ले आये थे !!

देवज्योतिषालय  वड़ोदरा में १९४९ में ले आये थे !! एक बात अचूक वो कहते थे !! आनंद में रहो !! यही बात का आधार रखके भूमा विद्या के रसिक रहे थे शिवशंकर व्यास !!



शनिवार, 27 दिसंबर 2014

शिवशंकर व्यास का हस्त

अपनी विद्वत्ता शांत स्थिर दिरगदृष्टा वृत्ति उनकी  देती है
शिवशंकर व्यास का हस्त

शनिवार, 20 दिसंबर 2014

राम रूठता है कब !!

कविता में बहोत कुछ कह देते थे ! राम रूठता है कब !!

शुक्रवार, 21 नवंबर 2014

सब कर्मकांड में

कठिन कर्मकांड के प्रश्नो में शिवशंकर ने समाधान निकाले  है !

यह उनकी खूबी थी वो खुद पूजा में खो जाते  थे 
उनकी विशिष्टता यह रही अपने सभी कुटुम्बी जनो   को समाविष्ट करते रहते थे।  इसीमे सब कर्मकांड में शिखते भी गए।